[2023] Guru Purnima Speech in Hindi । गुरु पूर्णिमा पर भाषण-PDF Download

Guru Purnima Speech in Hindi | Guru Purnima Par Speech in Hindi 200 Words | Speech on Guru Purnima in Hindi 300 Words | Guru Purnima Par Bashan 500 Words | Guru Purnima Speech in Hindi PDF Download | Guru Purnima Quotes in Hindi

Guru Purnima Speech in Hindi:गुरु पूर्णिमा भारतीय संस्कृति में एक महत्वपूर्ण त्योहार है जो गुरुओं को समर्पित है। इस दिन विद्यार्थी अपने गुरुओं को आभार व्यक्त करते हैं जो उन्हें ज्ञान और मार्गदर्शन में सहायता करते हैं। यह त्योहार पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है जब चंद्रमा अपने पूर्ण रूप में दिखाई देता है। इस लेख में, हम गुरु पूर्णिमा पर भाषण (Guru Purnima Speech in Hindi) के माध्यम से इस उत्सव के महत्व को समझने का प्रयास करेंगे।

Guru Purnima Speech in Hindi

Guru Purnima Speech in Hindi

प्रिय सभी गुरुओं और शिक्षकों को नमस्कार।

आज हम सभी मिलकर एक ख़ास अवसर पर इकट्ठे हुए हैं – गुरु पूर्णिमा के इस धार्मिक उत्सव के दिन। यह दिन हमारे जीवन में गुरुओं को समर्पित है, जिन्होंने हमें ज्ञान की प्राप्ति कराई और हमें आदर्शों के मार्ग पर चलने का साथ दिया।

गुरु का शब्द अत्यंत पवित्र है। गुरु हमारे जीवन के मार्गदर्शक होते हैं, जो हमें जीवन के सभी क्षेत्रों में बेहतर बनने का रास्ता दिखाते हैं। वे हमें ज्ञान, समझदारी, सच्चाई, धैर्य, और नैतिकता के मूल्यों को सिखाते हैं। हमारे जीवन में गुरु के बिना ज्ञान की कमी होती है और हम अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में समर्थ नहीं होते।

गुरु पूर्णिमा का यह अवसर हमें याद दिलाता है कि हमें अपने गुरुओं का आभार व्यक्त करना चाहिए। हम उनके अनमोल संबंधों के प्रति आभार व्यक्त करते हैं जिनसे हमें न सिर्फ शिक्षा मिली, बल्कि जीवन के हर मोड़ पर हमारे साथ रहा। यह एक ऐसा दिन है जब हम अपने गुरुओं के प्रति अपने मन की गहराइयों से भावना साझा कर सकते हैं।

गुरु पूर्णिमा के दिन हमें यह भी याद रखना चाहिए कि हम अपने गुरुओं के सिखाए गए ज्ञान को आगे भी बढ़ाने का प्रयास करें। हमारे गुरु ने हमें ज्ञान का विरासतगार बनाया है, और अब हमारी जिम्मेदारी है कि हम भविष्य की पीढ़ियों को भी ज्ञान के मार्ग पर चलने का प्रेरणा दें।

इस गुरु पूर्णिमा के अवसर पर, हम सभी को अपने गुरुओं का आभार व्यक्त करने के साथ-साथ उन्हें प्रणाम करना चाहिए। हमें अपने गुरुओं के जीवन की महानता और उनके संघर्षों का भी सम्मान करना चाहिए, क्योंकि उनके बिना हम यहां नहीं होते।

मैं आप सभी से यह भी आग्रह करूँगा कि हम गुरु पूर्णिमा के पावन अवसर का उपयोग करके अपने गुरुओं के उपकार का ध्यान रखें और उन्हें समर्पित रहें। हम अपने गुरुओं के बिना न तो ज्ञानी बन सकते हैं और न ही समर्थ हो सकते हैं। इसलिए, आओ इस पवित्र दिन को समर्पित करें और अपने गुरुओं को श्रद्धांजलि अर्पित करें।

धन्यवाद, और गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएँ!

Guru Purnima Par Speech in Hindi 200 Words

प्रिय सभी साधकों और अनुयायियों को, आप सभी को गुरु पूर्णिमा की ढेर सारी शुभकामनाएं। आज हम सभी गुरुओं को उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के लिए धन्यवाद देने का शुभ अवसर मिला है। गुरु पूर्णिमा एक पर्व है जिसमें हम अपने गुरुओं को आभार व्यक्त करते हैं जो हमें ज्ञान, दर्शन और मार्गदर्शन प्रदान करके हमें अनंत जीवन की शिक्षा देते हैं।

गुरु हमारे जीवन में एक मार्गदर्शक तारा की भूमिका निभाते हैं। वे हमें सही रास्ता दिखाते हैं और हमें समझाते हैं कि कैसे उस रास्ते पर चलना है। गुरु के पदचिह्नों को मानने से हमें ज्ञान की प्राप्ति होती है और हम अपने जीवन में सफलता की ऊंचाइयों को छुआ सकते हैं।

गुरु पूर्णिमा हमें याद दिलाता है कि हमें अपने गुरुओं के प्रति आभारी रहना चाहिए और उनके आदर्शों को अपने जीवन में अमल में लाना चाहिए। हमें अपने गुरुओं के उज्ज्वल प्रेरणा के साथ अपने सपनों को पूरा करने की प्रेरणा मिलती है।

इस गुरु पूर्णिमा पर हम सभी को यह वचन देना चाहिए कि हम अपने गुरुओं के आदर्शों का पालन करेंगे और उनके दिए गए मार्ग पर चलकर सफलता की ओर बढ़ेंगे। आओ मिलकर इस गुरु पूर्णिमा को यादगार बनाएं और अपने गुरुओं को आभार व्यक्त करें। धन्यवाद

Guru Purnima Speech in Hindi 300 Words 

आदरणीय सभी उपस्थित व्यक्तियों को मेरा सादर नमस्कार।

आज मैं यहां गुरु पूर्णिमा के अवसर पर आपके सामने कुछ शब्दों का समारोह करने का सौभाग्य महसूस कर रहा हूँ। गुरु पूर्णिमा हिंदू धर्म में एक महत्वपूर्ण पर्व है, जिसे हम सभी बड़े धार्मिक भाव से मानते हैं। यह एक पर्व है जो गुरुओं के सम्मान में समर्पित है और शिक्षायें देने वाले गुरुओं को सलामी देने का अवसर प्रदान करता है।

गुरु का महत्व शब्दों में व्यक्त नहीं किया जा सकता। गुरु हमारे जीवन में रोशनी की तरह उजाला भरते हैं जो हमें अंधकार से बाहर निकलकर सही राह दिखाते हैं। गुरु के बिना ज्ञान की प्राप्ति संभव नहीं होती। हमारे गुरु ही वे प्रेरक होते हैं जो हमें सफलता की ऊंचाइयों तक पहुंचाते हैं।

गुरु पूर्णिमा का पर्व भारतीय संस्कृति में विशेष महत्व रखता है। इस दिन हम अपने गुरुओं को विशेष सम्मान देते हैं और उन्हें धन्यवाद देते हैं जो हमें अपने जीवन की दिशा में मार्गदर्शन करते हैं। इस दिन को समर्पित करके हम भगवान् विष्णु के अवतार परम पूज्य श्री वेद व्यास जी को भी स्मरण करते हैं, जो अपने महानता से समस्त विश्व को ज्ञान की धारा प्रदान करते हैं।

गुरु पूर्णिमा के अवसर पर, हम अपने गुरुओं के आशीर्वाद को प्राप्त करने का संकल्प लेते हैं। हमें यह याद रखना चाहिए कि गुरु शिष्य के जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और हमें अपने गुरुओं के प्रति सम्मान और आभार रखना चाहिए।

इस अवसर पर, मैं अपने सभी गुरुओं का आभारी हूँ जिन्होंने मेरे जीवन को प्रभावित किया और मुझे सही मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया। मैं भगवान् से प्रार्थना करता हूँ कि हमें सभी गुरुओं के आदर्शों का पालन करने की शक्ति मिले और हम अपने जीवन में सफलता की ऊंचाइयों तक पहुंच सकें।

धन्यवाद!

Guru Purnima Par Bashan 500 Words

प्रिय सभी शिक्षकों, माननीय अध्यापकों, विद्यार्थियों और प्रिय छात्रों को नमस्कार।

आज हम सभी इस खास मौके पर एकत्र हुए हैं, जो हर वर्ष हमें अपने गुरुओं के सम्मान में मनाने को मिलता है। हाँ, हम बात कर रहे हैं गुरु पूर्णिमा की, जो शिक्षा के पवित्र महोत्सव के रूप में जाना जाता है। इस अवसर पर हम सभी गुरुओं को धन्यवाद देने के लिए एकत्र हुए हैं जिनके द्वारा हमें ज्ञान की प्राप्ति होती है।

गुरु पूर्णिमा भारतीय परंपरा में एक महत्वपूर्ण और प्रमुख त्योहार है। यह पर्व पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है, जिस दिन चंद्रमा पूर्णता विकल्प को प्राप्त होता है। यह पर्व शिक्षा के प्रती समर्पण और गुरु-शिष्य के संबंध का प्रतीक है। इस दिन विद्यार्थियों और छात्रों ने अपने गुरुओं को धन्यवाद देने का सबसे उत्तम मौका होता है।

गुरु और शिष्य का संबंध एक अनमोल रिश्ता होता है। गुरु हमें राह दिखाते हैं, हमें सही दिशा में अग्रसर करते हैं और जीवन में सफलता की दिशा में मार्गदर्शन करते हैं। गुरु का महत्व इसलिए है क्योंकि वे हमारे जीवन में एक प्रकाश की तरह होते हैं जो अंधकार को दूर करके हमें ज्ञान की दिशा में ले जाते हैं। वे हमारे ध्येय को समझते हैं और हमें उसे प्राप्त करने के लिए प्रेरित करते हैं। गुरु पूर्णिमा इस संबंध को मजबूत करने और विकसित करने का एक शुभ दिन है।

इस पवित्र अवसर पर, हमें गुरुओं के प्रति अपना आभार व्यक्त करना चाहिए। हमें याद रखना चाहिए कि गुरु हमारे जीवन के मार्गदर्शक होते हैं और हमें सही और गलत के बीच अंतर को समझने में मदद करते हैं। वे हमें न केवल शिक्षा देते हैं, बल्कि अच्छे मानसिकता और नैतिकता के साथ एक समृद्ध व्यक्तित्व का निर्माण भी करते हैं।

गुरु पूर्णिमा ने हमें गुरुओं के महत्व को समझाया है और हमें उनके सम्मान में साधारण उपहारों और आभूषणों से बढ़कर गुरुदक्षिणा देने का संदेश दिया है। हम गुरुओं के प्रति अपना सम्मान व्यक्त करने के लिए धन्यवादी होते हैं, लेकिन आज हमें अपने गुरुओं के प्रति अपने कृतज्ञता को दिखाने का सुनहरा अवसर मिलता है। हमें उन्हें धन्यवाद देने के लिए शब्दों में व्यक्त करने की जरूरत है कि उनके आशीर्वाद और मार्गदर्शन के बिना हम कहाँ होते।

आज, हमें गुरु पूर्णिमा के इस खास पर्व को और महत्वपूर्ण बनाने की जरूरत है। हमें अपने गुरुओं के सम्मान में कुछ करना चाहिए, जैसे कि उन्हें शिक्षक दिवस पर उपहार देना, उन्हें ध्यान से सुनना और उनके उपदेशों का पालन करना। हमें गुरुओं के सम्मान में एक समारोह आयोजित करके उन्हें सम्मानित करने का प्रयास करना चाहिए।

हम सभी को गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएं भेजते हैं। आशा है कि हम सभी इस खास अवसर पर अपने गुरुओं के सम्मान में धन्यवाद व्यक्त करेंगे और उन्हें एक समृद्ध जीवन की कामना करेंगे। गुरु पूर्णिमा के इस पवित्र मौके पर, हमें अपने गुरुओं के आशीर्वाद का सम्मान करना चाहिए और उनके प्रति अपने कृतज्ञता को प्रकट करना चाहिए। धन्यवाद।

आप सभी को धन्यवाद। जय हिंद।

Guru Purnima Quotes in Hindi

  • गुरुर्ब्रह्मा ग्रुरुर्विष्णुः गुरुर्देवो महेश्वरः।
    गुरुः साक्षात् परं ब्रह्म तस्मै श्री गुरवे नमः॥
  • गुरु के पास ज्ञान का सागर होता है,
    जिससे अनंत ज्ञान की धारा बहती है।
    गुरु पूर्णिमा के पावन अवसर पर,
    आपको मेरा प्रणाम।
  • गुरु पूर्णिमा के अवसर पर आपको ढेर सारी शुभकामनाएं।
    आपके चरणों में नित्य श्रद्धा रखते हुए,
    मैं आपका आभारी हूँ।
  • गुरु की महिमा सबसे ऊंची होती है,
    वही सृष्टि के रचयिता का साक्षात रूप होता है।
    गुरु पूर्णिमा के इस पवित्र दिन पर,
    आपको भीष्मगति प्राप्त हो।
  • गुरु पूर्णिमा के इस शुभ दिन पर,
    आपको गुरुओं का आशीर्वाद मिले।
    जीवन के हर क्षेत्र में सफलता मिले,
    यही मेरी कामना है।
  • गुरु की शिक्षा ने बनाया आदमी को श्रेष्ठ,
    उसके दर्शन से ही मिलती है विशेषता।
    गुरु पूर्णिमा के इस पवित्र अवसर पर,
    आपको मेरा प्रणाम।
  • गुरु हैं वो स्वर्ग के द्वारवर्ती,
    जिनके दर्शन से होती है छुट्टी मुक्ति।
    गुरु पूर्णिमा के इस पावन अवसर पर,
    आपको ढेर सारी शुभकामनाएं।
  • गुरुर्ब्रह्मा ग्रुरुर्विष्णुः गुरुर्देवो महेश्वरः।
    गुरुः साक्षात् परं ब्रह्म तस्मै श्री गुरवे नमः॥
  • आचार्य देवो भवः, पितृ देवो भवः, आचार्यात्मा देवो भवः।
    मतिः देवो भवः, श्री गुरुवे नमः॥
  • गुरु की महिमा सबसे ऊँची, गुरु बिन गति नहीं कोई।
    गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएँ, आपको मेरी तरफ से हैं सभी॥
  • आपके प्रेरणा से हैं ये सफलताएँ, आपके आशीर्वाद से हैं ये चमत्कार।
    गुरु पूर्णिमा के पावन अवसर पर, मेरी भक्ति आपको समर्पित है॥
  • शिक्षक गुरु हैं, ज्ञान के सागर हैं।
    उनके बिना जीवन व्यर्थ है, आपको गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएँ॥
  • गुरु पूर्णिमा के पावन अवसर पर, भगवान् आपको खुशियों से भर दे।
    गुरु के चरणों में अपना सर झुका कर, गुरु पूर्णिमा की बधाई स्वीकारें॥

Guru Purnima Speech in Hindi PDF Download
Guru Purnima Speech in Hindi

Guru Purnima Speech in Hindi

Guru Purnima Speech in Hindi

Guru Purnima Speech in Hindi

Guru Purnima Speech in Hindi

यह भी पढ़ें –

Hindi Mein kaise Likhen
10 Lines on Independence Day in Hindi
My Teacher 10 Lines in Hindi

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs) on (Guru Purnima Speech in Hindi)

गुरु पूर्णिमा क्यों मनाया जाता है?

गुरु पूर्णिमा को शिक्षकों को सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है, जो हमें ज्ञान के साथ अध्ययन करने और जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं।

गुरु पूर्णिमा को कैसे मनाया जाता है?

गुरु पूर्णिमा को लोग अपने गुरुओं के समक्ष आभार व्यक्त करने के लिए विशेष आयोजन करते हैं। वे उन्हें फूल, श्रद्धांजलि और उपहार देकर धन्यवाद देते हैं।

गुरु पूर्णिमा के दिन क्या विशेष कार्यक्रम होते हैं?

गुरु पूर्णिमा के दिन विभिन्न स्कूल और कॉलेजों में विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जैसे भाषण, संगठन, कविता पाठ, गाना, नाटक आदि।

गुरु का महत्व क्या है?

गुरु हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं क्योंकि वे हमें ज्ञान का सागर होते हैं और हमें सही मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करते हैं।

गुरु पूर्णिमा को विदेश में कैसे मनाया जाता है?

विदेश में भी गुरु पूर्णिमा को बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। भारतीय संस्कृति के अनुसार, भारतीय व्यापारियों, अध्यापकों, और छात्रों के समूहों ने विदेशों में भी गुरु पूर्णिमा को धूमधाम से मनाया है।

इस अद्भुत अवसर पर आप सभी से यह आग्रह है कि आप भी अपने गुरुओं के प्रति आभार व्यक्त करें और उन्हें सम्मानित करें। गुरु पूर्णिमा के इस पवित्र दिन को सभी मिलकर धैर्य, समर्पण, और भक्ति के साथ आयोजित करें।

तो यह सब “Guru Purnima Speech in Hindi | Guru Purnima Quotes in Hindi | Guru Purnima Speech in Hindi 500 Words| Guru Purnima Speech in Hindi 300 Words | Guru Purnima Par Speech in Hindi 200 Words के बारे में है।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। igyani.com पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.